वादा करती हूँ तुझसे

वादा करती हूँ तुझसे निभाया करूंगी,
रोज सपनों में तेरे मैं आया करूंगी |

कुछ अपनी कहूंगी तेरी भी सुनूंगी,
यूँ ही दिल अपना बहलाया करूंगी |

घड़ियाँ कैसे काटी मैं तेरे बिना ,
गिन कर मैं तुझे भी गिनाया करूंगी |

लिखा है मैंने जो कुछ भी तेरे लिए ,
गीत पढ़कर मैं तुझको सुनाया करूंगी |

तूने भी तो लिखा होगा मेरे लिये ,
तुझे पढ़कर तुझे गुनगुनाना करूंगी |

तू है चँदा तो मैं तेरी बन चाँदनी ,
रात अम्बर में संग झिलमिलाया करूंगी |

बीत जायेंगी घड़ियाँ किरण रात की,
तो मैं सूरज के संग खिल जाया करूंगी |

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  बदले )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  बदले )

Connecting to %s