साफ रख तन मन

साफ रख तन – मन, जन – जन कर प्रण,
कीट कोरोना को हमें जड़ से मिटाना है।

चल हट झट पट, मत तू किसी से सट,
दूर – दूर रह प्रीत – रीत को निभाना है ।

मान मेरी बात मत, कर खुराफात अब ,
इस घड़ी में कहीं भी , आना है न जाना है।

घर में ही रह कर, लड़ना है डट कर ,
इसी रणनीति से ये, जंग जीत जाना है ।।

2 विचार “साफ रख तन मन&rdquo पर;

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  बदले )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  बदले )

Connecting to %s