जाऊँगा मैं स्कूल

जाऊँगा मैं स्कूल

रोज मुझे बहलाकर मम्मी,
नहीं बनाओ फूल।
नाम लिखा दो मेरा भी अब ,
जाऊँगा मैं स्कूल।

देखो मेरे भैया राजा,
कितने बनते स्मार्ट ।
पढ़ना-लिखना मुझको भी है,
करना जल्दी स्टार्ट।

अभी बहुत छोटे हो बेटा,
जिद्द करो मत व्यर्थ ।
पढ़ना-लिखना क्या है प्यारे ,
पहले समझो अर्थ।

क ख ग घ ए बी सी डी,
वन टू एक दो तीन।
चलो पढ़ाती हूँ मैं तुमको,
उँगली पर गिन – गिन।

मान लिये गोलू राजा फिर,
मम्मी की यह बात।
लगे पढ़ाई करने घर में,
मन से वह दिन रात।

धीरे-धीरे गोलू राजा,
हो गये होशियार।
मम्मी – पापा भैया उनको,
करते प्यार – दुलार।

बड़े हुए जब गोलू राजा,
दिये स्कूल में टेस्ट।
दिये जवाब फटाफट सार,
मार्क्स आ गया बेस्ट।

फिर मस्ती में गोलू राजा,
गये खुशी से झूम ।
मम्मी पापा लिये गर्व से,
उनका माथा चूम।

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  बदले )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  बदले )

Connecting to %s