साफ रख तन मन

साफ रख तन – मन, जन – जन कर प्रण,
कीट कोरोना को हमें जड़ से मिटाना है।

चल हट झट पट, मत तू किसी से सट,
दूर – दूर रह प्रीत – रीत को निभाना है ।

मान मेरी बात मत, कर खुराफात अब ,
इस घड़ी में कहीं भी , आना है न जाना है।

घर में ही रह कर, लड़ना है डट कर ,
इसी रणनीति से ये, जंग जीत जाना है ।।

हर – हर महादेव

अंडधर , हर – हर महादेव, कृपा कर |
इंदुशेखर, अंबरिश, गंगजटाधारी |

बड़े हैं अनाड़ी अंगीरागुरु , अक्षतवीर्य |
पार्वतीपति, शिव दुख हर लो हमारी |

पढ़ना जारी रखें “हर – हर महादेव”

छेड़ो मत नटखट

यमुना के तट पर, छेड़ो मत नटखट |
छोड़ो मेरा हाथ मोहे भरना है गगरी ||

लेने दो न चैन मोहे करो न बेचैन श्याम |
विनती करूँ मैं तोरी छोड़ मोरी तगड़ी ||

पढ़ना जारी रखें “छेड़ो मत नटखट”

अजातशत्रु

जननायक विचारक कवि अजातशत्रु
भारत रत्न भूषित अटल बिहारी जी

राजनीति से परे सोचते थे देश हित
गाते नव गीत नीत अटल बिहारी जी

पढ़ना जारी रखें “अजातशत्रु”

कैसे माँगे बेटी भगवान से

सपने सजाके नैन माई बाप दिन रैन
बेटियाँ पढ़ाने भेजे बड़े अरमान से

पढ़ना जारी रखें “कैसे माँगे बेटी भगवान से”